Om Banna Story in Hindi and English

om banna

Om Banna

Om Banna Story in English

There’s a place in Rajasthan on Jodhpur-Ahmedabad highway, named as Rohet 20 kms before Pali city. This place is an accident prone site, hence a sign board has been put up to tell the traveler and commuters to slow down.

The specialty is this area is known for a motorcycle baba (Om Banna), and the local use to worship him. they believe doing so will prevent accidents in that area. Story behind this Baba is, there was a Guy named Om Singh Rathore alias Om Banna of village chotila, in 1988 Om Banna crashed on the same site while riding on his bullet.

om banna bullet

Om Banna Bullet

After that cops seized Om Banna’s bike, but the next morning the bike was missing from the police station, they searched the bike and found that the bike is standing on the accident site, they took the bike back to the police station but again next morning they found the bike at the same spot. they believed that this whole act is done by Om Banna (actually his soul). so they built a temple there in his memory. from then on people worship Om Banna as an accident preventer. So this is the story of om baana. Dont’t forget to share. Jai Om Banna Sa.

Read Also ⇒ Om Banna Photos with Wife and Father

Om Banna Story in Hindi

राजस्थान में जोधपुर-अहमदाबाद राजमार्ग पर पाली जिले से 20 किलोमीटर पहले एक रोहिट नाम का गाँव है | इस गाँव के पास एक दुर्घटना संभावित जगह है | इस वजह से वहा एक साइन बोर्ड भी लगा हुआ है, जिससे आने जाने वाले ट्रैवलर इस बोर्ड को पड़कर सावधान हो जाये |

इस जगह की एक विशेषता है की यह एरिया एक मोटरसाइकिल बाबा (ओम बन्ना) के लिए जाना जाता है | स्थानीय लोग ओम बन्ना की पूजा करते है | लोग ऐसा मानते है की ओम बन्ना की पूजा करने से ओम बन्ना उस एरिया में एक्सीडेंट को रोकेंगे |

इस मोटरसाइकिल बाबा (ओम बन्ना) की कहानी कुछ इस प्रकार है की रोहिट गाँव के पास एक और गाँव है चोटिला | चोटिला गाँव में ओम सिंह राठौड़ उर्फ ओम बन्ना नाम का एक लड़का था | 1988 में उस लड़के की बुलेट इस साइट पर दुर्घटनाग्रस्त हो गई थी | और उस लड़के की मौत हो गई थी |

इसके बाद पुलिस ने ओम बन्ना की बाइक को जब्त कर लिया था | लेकिन अगली सुबह बाइक पुलिस स्टेशन से गायब थी | जब बाइक को खोजा गया तो बाइक दुर्घटना स्थल पर पायी गई | पुलिस बाइक को पुनः पुलिस स्टेशन ले गई लेकिन अगली सुबह बाइक फिर से पुलिस स्टेशन से गायब होकर दुर्घटना स्थल पर पायी गई |

लोग सोचने लगे की यह सारा काम ओम बन्ना दवारा (वास्तव में उसकी आत्मा) दवारा किया जा रहा था | इसलिए लोगो ने ओम बन्ना की याद में उस दुर्घटना स्थल पर एक मंदिर बनवाया | तब से लोग ओम बन्ना की पूजा एक दुर्घटना निवारक के रूप में करते हैं। तो यह थी ओम बन्ना की कहानी | इस कहानी को शेयर करना न भूले | जय ओम बन्ना सा |

Mahipal Singh

Khamma Ghani Saa !! Mera naam Mahipal Singh hai. Main is blog ko manage/own karta hu. Main ek simple, truth loving, work dedicated, Electrical engineering graduate (B.Tech.) person hu. Main Jaipur ka rehne wala hu. Main ek student hone ke sath part time blogger bhi hu. Mujhse judne ke liye meri social profile join kare Facebook, Twitter, Google+, Instagram.

Latest posts by Mahipal Singh (see all)

Comments (71)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *