JaiRajputana


Gora Badal Story in Hindi

December 19, 2012 | | , | 10 Comments
gora-badal
Gora Badal

Gora Badal Story

गोरा और बादल चित्तौड़गढ़ मेवाड़ के महान योद्धाओं में से एक थे, जो चित्तौड़गढ़ मेवाड़ के रावल रतन सिंह के बचाव के लिए बहादुरी से लड़े थे | गोरा ओर बदल दोनों चाचा भतीजे जालोर के चौहान वंश से सम्बन्ध रखते थे | छल द्वारा 1298 में अलाउद्दीन खिलजी ने चित्तौड़गढ़ मेवाड़ के शाशक रावल रतन सिंह को कैदी बना दिया था | फिरौती में खिलजी ने, चित्तौड़गढ़ मेवाड़ के रावल रतन सिंह कि पत्नी रानी पद्मिनी कि माँग कि थी | यह सब होने के बाद रानी पद्मिनी ने एक युद्ध परिषद आयोजित की जिसमे रावल रतन सिंह को बचाने कि योजना बनाई गयी | रावल रतन सिंह को बचाने का जिम्मा गोरा ओर बादल को दिया गया | गोरा ओर उसके भतीजे बादल को अलाउद्दीन खिलजी के पास दूत बना कर भेजा गया ओर संदेश पहुँचाया गया कि रानी पद्मिनी को खिलजी को सोप दिया जयेगा अगर खिलजी अपनी सेनाये चित्तौड़गढ़ मेवाड़ से हटा दे, पर एक शर्त यह है कि जब रानी पद्मिनी को खिलजी को सोपा जयेगा तब रानी पद्मिनी कि दसिया ओर सेवक 50 पालकियो में साथ होगी |

Read Also ⇒ Maharana Pratap Life History

जब रानी पद्मिनी को खिलजी को सोपा जा रहा था तो हर एक पालकि में 2 अच्छे अच्छे राजपूत योधा को बिठाया गया | जब रानी पद्मिनी कि पालकि जिसमे गोरा ख़ुद भी बैठा था, जब रत्न सिंह के टेंट के पास पहुँची तो गोरा ने रतन सिंह के टेंट में जाके रत्न सिंह को घोड़े पे बैठने को बोला ओर कहा कि आप किले(चित्तौड़गढ़) में वापस चले ज्यों | उसके बाद गोरा ने सभी राजपूत योद्धाओं को उनकी पालकी से बाहर आने को कहा ओर बोला कि मुस्लिम सैनिकों पर हमला करो | गोरा खिलजी के तम्बू तक पहुँचा और सुल्तान को मारने ही वाला था पर सुल्तान अपनी उपपत्नी के पीछे छिप गया | गोरा एक राजपूत था ओर राजपूत मासूम महिलाओं को नहीं मारते, इसलिए गोरा ने उस महिला पे हाथ नही उठाया | ओर सुल्तान के सैनिकों से युधा करते हुए गोरा ओर बदल वीर गति को प्राप्त हुए | चित्तौड़गढ़ किले में रानी पद्मिनी के महल के दक्षिण में दो गुंबद के आकार घरों का निर्माण किया गया है जिन्हें गोरा बादल के महल के नाम से जाना जाता है | जय राजपूतना |
10 Comments
  1. Sanjay rathourSeptember 01, 2016

    Jai om banna ke

    ReplyDelete
  2. Abhishek singh vohraApril 12, 2017

    Vohra kstriya dadwal rajpoot desents origAn search we know desents rajpoot dadwAls kashap gotra and village is bhone in chakwal dist jhelum pak 1947we migrate at time India and pak partion

    ReplyDelete
  3. vikram singh shakwayat v.khariya p.binsar dst.churu raj.May 23, 2017

    Jy on Banna

    ReplyDelete
  4. VIPIN GORAJune 24, 2017

    sir m bhi ek rajput hu. GORA rajput hu m humare gora rajput ki history k baare m aap kuch bta sakte hai kya

    ReplyDelete
  5. Manoj singh parihar. satnaJune 26, 2017

    Pranam hai aise veer
    Sapooton ko

    ReplyDelete
  6. Mujhe garv he ki me chittorgarh me paida huva ese veero ko mera sat Sat naman jai chittor

    ReplyDelete
  7. shat shat naman hai veeron ko.
    jo dikha gaye pure bharatvarsh ko ki veerta kise kahten hain.

    ReplyDelete
  8. pranam hai aise veer yodhaon ko

    ReplyDelete
  9. Koti koti pranaam hai aise veer yoddhaon ko. Jai ekling ji ki

    ReplyDelete
  10. jai rajpitana veere

    ReplyDelete